3:12 pm - Monday June 18, 2018

प्रदेश के 7 शहरों में होगा जीवन की जरूरतों के मौजूदा मानक स्तर का सर्वे

सर्वे के लिए केंद्र सरकार ने देश के 116 शहरों को किया चयनित

bhopal: मानव जीवन के लिए जरूरी हवा, पानी, स्वास्थ्य और शिक्षा सहित अन्य जरूरतों के शहरों में मानक स्तर क्या है इसका केंद्र सरकार ने सर्वे करवाने का निर्णय लिया है। इसके लिए देश में 116 शहरों का चयन किया गया है, जिसमें प्रदेश के 7 शहर शामिल है।
इस सर्वे के पीछे केंद्र सरकार की मंशा शहरों में जीवन की जरूरतों के मानक स्तरों में सुधार लाना है। पाॅलूशन कंट्रोल बोर्ड के तहत चयनित शहरों में पानी और हवा की मौजूदा क्वॉलिटी का सर्वे होगा। जबकि ऊर्जा विभाग के तहत बिजली के कनेक्शन, बिल के पेमेंट की ऑनलाइन सुविधा के साथ इससे जुड़ी अन्य सर्विस की वास्तविकता की जानकारी इकट्ठी की जाएगी। इसके अलावा शिक्षा विभाग के अंतर्गत शिक्षा एवं स्वास्थ्य विभाग के तहत इन शहरों की स्वास्थ्य सुविधा का सर्वे होगा। इसी तरह परिवहन विभाग के द्वारा दी जा रही यातायात की सुविधा तथा पुलिस के द्वारा रोड़ एक्सीडेंट के अलावा बच्चों तथा महिलाओं के साथ हो रहे अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए उठाए गए कदमों की हकीकत भी सर्वे में जानी जाएगी। केंद्र सरकार के इस सर्वे में अरबन डेवलपमेंट अथॉरिटी के माध्यम से लोगों को मिलने वाली सुविधाओं को भी शामिल किया गया है।
——————-
प्रदेश के इन शहरों में होगा सर्वे
भोपाल, इंदौर, उज्जैन, जबलपुर, ग्वालियर, सागर और सतना शामिल है ।
————————
नगरीय विकास एवं आवास विभाग को बनाया नोडल एजेंसी
केंद्र सरकार ने जीवन की जरूरतों के मानक स्तर का सर्वे करवाने के लिए मप्र में नोडल एजेंसी नगरीय विकास एवं आवास विभाग को बनाया है।

Filed in: न्यूज़ टुडे, मध्य प्रदेश

Comments are closed.