4:12 pm - Saturday January 20, 2018

प्रदेश के 14 नगर निगम की कम्पलीशन सर्टिफिकेट की ऑनलाइन मनीटरिंग करेगा संचालनालय

“भोपाल नगर निगम में गड़बड़ी कर बिल्डरों को दिए गए कम्पलीशन सर्टिफिकेट मामले की जांच रिपोर्ट नगरीय प्रशासन के संचालनलय ने की तलब।”

भोपाल : प्रदेश के 14 नगर निगम में जारी होने वाले कम्पलीशन सर्टिफिकेट की अब नगरीय प्रशासन विकास के संचालनलय स्तर पर ऑनलाइन मनीटरिंग की जा रही है। भोपाल नगर निगम द्वारा बिल्डरों को जारी किए गए कम्पलीशन सर्टिफिकेट में गड़बड़ी करने के मामले का खुलासा होने के बाद नगरीय प्रशासन विकास के आयुक्त विवेक अग्रवाल ने यह निर्णय लिया। इसके अलावा नगर निगम भोपाल में हुई इस गड़बड़ी की जांच रिपोर्ट भी संचालनलय ने तलब की है।
प्रदेश के बाकी नगर निगम में भी इस तरह की गड़बड़ियों को रोकने के मद्देनजर यह निर्णय लिया गया है । सूत्रों का मानना है कि प्रदेश के सभी नगर निगमों के द्वारा जारी किए गए कम्पलीशन सर्टिफिकेट की जांच करवाई जाए तो भोपाल नगर निगम की ही तरह बहुत बड़ी गड़बड़ी सामने आएगी। रेरा में पंजीयन करवाने के लिए नगर निगम भोपाल के बिल्डिंग परमीशन शाखा के इंजीनियरों और आला अफसरों एवं बिल्डरों की मिलीभगत से आनन-फानन में कम्पलीशन सर्टिफिकेट जारी किए गए थे । शासन ने आटोमैटिक बिल्डिंग प्लान एप्रूवल सिस्टम (एबीपीएएस ) के तहत 14 नगर निगमों में ऑनलाइन बिल्डिंग परमीशन देने का काम शुरू करवा दिया है । अगले साल एक अप्रैल तक प्रदेश के बाकी 364 नगरीय निकाय में भी एबीपीएएस के तहत ऑनलाईन बिल्डिंग परमीशन जारी होने लगेगी। बिल्डिंग परमीशन मिलने के बाद अब भवन निर्माण करने वाले अथवा कॉलोनाइजर को भवन निर्माण शुरू करने की सूचना निकाय को तुरंत ऑनलाइन ही देना होगी। साथ ही पिलिंथ लेवल के काम की जानकारी को ऑनलाइन फोटो अपलोड करना होगी, जिससे अनुमोदित मानचित्र से हटकर निर्माण होने की ऑनलाइन निकाय और संचालनलय स्तर पर मनीटरिंग हो सकेगी । इसी तरह कम्पलीशन सर्टिफिकेट जारी होने की ऑनलाइन मनीटरिंग होगी।
———–
इन नगर निगमों के कम्पलीशन सर्टिफिकेट की होगी ऑनलाइन मनीटरिंग
भोपाल, इंदौर, उज्जैन, रतलाम, देवास, ग्वालियर, खंडवा, बुरहानपुर, सागर, कटनी, जबलपुर, सिंगरौली रीवा, सतना नगर निगम शामिल है ।
———-
” सभी 14 नगर निगम के द्वारा दी जाने वाले कम्पलीशन सर्टिफिकेट की एबीपीएएस के तहत अब संचालनालय में मनीटरिंग शुरू कर दी गई है। भोपाल नगर निगम की कम्पलीशन सर्टिफिकेट गड़बड़ी मामले की जांच रिपोर्ट संचालनलय भेजने के लिए लिखा है। ”
एसएस राजपूत (आईएफएस ) डायरेक्टर टेक्निकल संचालनलय नगरीय प्रशासन विकास

Filed in: न्यूज़ टुडे, मध्य प्रदेश

Comments are closed.